नवो दिवस

Total Views : 127
Zoom In Zoom Out Read Later Print

नवो दिवस

* नवो दिवस *

भुलो वा काल की बात
नवो दिवस , नवी आस
अज ला बनाओ खास
सत्कर्म की रखो प्यास

दिन आयेती ना जायेती
कभी दुःख ना कभी सुख
दुष्कर्म को करो नास
खुशी की बढाओ भूख

गयी घडी नही आवनकी
दिवस सरेत, सरे साल
समय को महत्व जान के
हर क्षण को करो ईस्तेमाल

संकट को करो सामना
मैदान मा रहो दट के
रेती ला बाटो, तेल निकले
करो काम असो हट के

प्रेम जोडसे सबला साथ
सागर समान भरो मन
दुनिया सारी मंगं आये
मन मा बसेत जन-जन

*************
✍महेंद्र राहांगडाले
     मु. मच्छेरा(सिहोरा), जि.भंडारा
९४०५७२९३१६, दि.१६/१२/२०१८

See More

Latest Photos

Share via Whatsapp