राजा भोज के जन्म की कथा

Total Views : 496
Zoom In Zoom Out Read Later Print

राजा भोज के जन्म की कथा

।। राजा भोज के जन्म की कथा ।।


राजा भोज का जन्म मालवा प्रदेश की ऐतिहासिक नगरी उज्जैनी में हुआ था उनका जन्म उज्जैनी राजपूत परमार वंश में हुआ था । राजा भोज जगत प्रसिद्ध 32 गुणों के स्वामि विश्व विजेता चक्रवर्ती सम्राट विक्रमादित्य के 11 वे वंशज थे । राजा भोज के पिता का नाम महाराजा सिंधु राज था । राजा भोज का जन्म बसंत पंचमी के दिन हुआ था राजा भोज के जन्म के बाद पुरा मालवा राज्य खुश था राजा भोज के बारे में राज्य के राजपुरोहित जी ने कहा जो कोई ना कर पाया वो यह करेगा और यह इतने महान होंगे की जहाँ भी यह जाएगें वह अपने आप को भाग्यशाली समझेंगे ये वो काम करेगे जो धरती पर किसी ने नही किया यह बालक अरब से लेकर म्यांमार और हिमालय से लेकर श्रीलंका तक राज करेगा यह महाराज विक्रमादित्य के बाद सबसे महान राजा होगा यह सब सुन कर पुरी उज्जैनी अपने राजकुमार को पाकर धन्य थी तो यह थी राजा भोज के जन्म की कथा । 
जय सम्राट राजा भोज ।

See More

Latest Photos

Share via Whatsapp